तंत्र-सूत्र—विधि-11 (ओशो)

शिथिल होने की दूसरी विधि: जब चींटी के रेंगने की अनुभूति हो तो इंद्रियों के द्वार बंद कर दो। तब। यह बहुत सरल दिखता है। लेकिन उतना सरल है नहीं। मैं इसे फिर से पढ़ता हूं, ‘’ जब चींटी के रेंगने की अनुभूति हो तो इंद्रियों के द्वार बंद कर दो। तब।‘’ यक एक उदाहरण … Read more तंत्र-सूत्र—विधि-11 (ओशो)