तंत्र-सूत्र—विधि-39 (ओशो)

ध्‍वनि-संबंधी तीसरी विधि: ‘’ओम जैसी किसी ध्‍वनि का मंद-मंद उच्‍चरण करो। जैस-जैसे ध्‍वनि पूर्णध्‍वनि में प्रवेश करती है। वैसे-वैसे तुम भी।‘’ ‘’ओम जैसी किसी ध्‍वनि का मंद-मंद उच्‍चारण करो।‘’ उदाहरण के लिए ओम को लो। यह एक आधारभूत ध्‍वनि है। उ, इ और म, ये तीन ध्‍वनियां ओम में सम्‍मिलित है। ये तीनों बुनियादी ध्‍वनियां … Read more तंत्र-सूत्र—विधि-39 (ओशो)