संभोग से समाधि की ओर—20 (ओशो)

समाधि : संभोग-उर्जा का अध्‍यात्‍मिक नियोजन—5 यहां से मैं भारतीय विद्या भवन से बोल कर जबलपुर वापस लौटा और तीसरे दिन मुझे एक पत्र मिला कि अगर आप इस तरह की बातें कहना बंद नहीं कर देते है तो आपको गोली क्‍यों ने मार दि जाये? मैंने उत्‍तर देना चाहा था, लेकिन वह गोली मारने … Read more संभोग से समाधि की ओर—20 (ओशो)

x