संभोग से समाधि की ओर—37 (ओशो)

संभोग से समाधि की और–ओशो (प्रवचन दसवां) विद्रोह क्‍या है—प्रवचन दसवां हिप्‍पी वाद मैं कुछ कहूं ऐसा छात्रों ने अनुरोध किया है। इस संबंध में पहली बात, बर्नार्ड शॉ ने एक किताब लिखी है: मैक्‍सिम्‍प फॉर ए रेव्‍होल्‍यूशनरी, क्रांतिकारी के लिए कुछ स्‍वर्ण-सूत्र। और उसमें पहला स्‍वर्ण बहुत अद्भुत लिखा है। और एक ढंग से … Read more संभोग से समाधि की ओर—37 (ओशो)