संभोग से समाधि की ओर—45 (ओशो)

संभोग से समाधि की ओर–ओशो (सत्‍तहरवां-प्रवचन) दमन से मुक्‍ति—सत्‍तरवां प्रवचन मेरे प्रिय आत्मन ‘जीवन क्रांति के सूत्र’ -इस परिचर्चा के तीसरे सूत्र पर आज चर्चा करनी है। पहला सूत्र था : सिद्धांत शाख और वाद से मुक्ति। दूसरा सूत्र था भीड़ से, समाज से-दूसरों से मुक्ति। और आज तीसरे सूत्र पर चर्चा करनी है। इस … Read more संभोग से समाधि की ओर—45 (ओशो)